ब्रेकिंग न्यूज! मध्य प्रदेश संकट फ्लोर टेस्ट पर सुप्रीम कोर्ट से बहुत बड़ी खबर! 16 बागी MLA को झटका

0
129

दूसरे मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी संकट को लेकर के सुप्रीम कोर्ट में आज दूसरे दिन लगातार सुनवाई जारी है कल तीनों की सुनवाई में कोई फैसला नहीं आ पाया लेकिन आज फिर है मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट कराने को लेकर के सुनवाई जारी है लेकिन मैं आपको बता दूं इसी को लेकर के सुप्रीम कोर्ट से कुछ अहम बातें सामने निकलकर आ रहे हैं

और बड़ी खपत निकल के आरी जो कि आपको बताने वाला हूँ लेकिन इससे पहले एक और बड़ी ख़बर जो की मैं आपको दे दो ही पूर्व सीजेआई यानी की चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने राज्यसभा की सदस्यता ग्रहण कर ली है और अनुभव एक्स संसद बन गए हैं तो चलिए अब शुरू करते हैं मध्य प्रदेश को लेकर क्या बनाए दूसरे मध्यप्रदेश में लगातार जो सियासी संकट चल रहा है उसपर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है और सुप्रीम कोर्ट ने तीन अंक टिप्पणियां की हैं सुप्रीम कोर्ट में कहा है

कि जोड़तोड़ की राजनीति को हम बढ़ावा नहीं देना चाहते जिसके लिए हम ये चाहते हैं कि जल्द ही फ्लोर टेस्ट कराया जाए लेकिन कम करा जाए इसकी डेट अभी तक सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दिया तो पहले बड़ी खबरों से कमला सरकार को बड़ा झटका लगा सकता है लेकिन जो दूसरी बड़ी ख़बर है उससे जो सोनाटा विधायक हैं उनको झटका लगा सकता है क्या बर हैं हम आपको विस्तार से बताएंगे लेकिन उससे पहले अगर आप भी मध्यप्रदेश में जितना की राजनीति हो रही है उसका विरोध करते हैं

तो आप इस वीडियो को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब जरूर कर दीजिए वेस्ट मध्य प्रदेश में जीस तरह से विधायक के आकार के मंत्रियों की स्थिती मंजूर किए गए थे और सोलह की नहीं उसको लेकर भी सुप्रीम कोर्ट ने सवाल खड़े किए हैं लेकिन इस बार जवाब देने के लिए विधानसभा स्पीकर की तरफ से मनुसिंघवी ने जो पैरवी कर रहे हैं उन्होंने दो हफ्ते का वक्त मांगा है अब उनको मार दिया जाता है या नहीं दिया जाता है तो बाद की बात है लेकिन इस पर सवाल जरूर खड़े हुए हैं वहीं दूसरी तरफ जो बाद में विधायक को लेकर के सुख प्रेम कोर्ट ने कहा है कि भूख विधायक आखिरकार बैंगलोर में ही क्यों नहीं क्यों रखे गए उनको किसी नेचुरल जगह पर ले जाया जाना चाहिए यानी की जो विधायको की पसंद है

यह बलों में रहे उनको बड़ा झटका लगा सकता है और उनको दूसरी जगह शूट किया जा सकता है इसी के साथ स्लिम कोर्ट ने इस पर एक जलभर भी नियुक्त करने की बात कही है यानी कि उन सोलह विधेयकों के सामने के अवसर पर होगा सुप्रीम कोर्ट की तरफ से है और वह जल्द करेगा कहीं बीजेपी दबाव बना कर के उनको इस्तीफा तो नहीं दिख रही हैं

उन पर उनसे वीडियो तो नहीं करवा लिया उसने प्रेस कॉन्फ्रेंस होने के बाद हैं यानी की ये जो सोला बाद विधायक के लिए कर्नाटक से दूसरी जगह जा सकते हैं और साथ ही साथ एक अब्जर्वर सुप्रीम कोर्ट इनके ऊपर नियुक्त कर सकता है तो यह बड़ी ख़बर और अगर ऐसा हो हैं तो यह बड़ा झटका बीजेपी ने सात सौ सोलह बागी विधेयकों के लिए भी हो सकता है

लेकिन अगर जल्दी फ्लोट इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट आदेश देता है तो कमला सरकार के लिए भी आगे आने वाले दिनों में संकट बढ़ सकता है अब देखना यह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here