Madhya Pradesh: Jyotiraditya Scindia और Narendra Modi के बीच क्या हुई Deal | वनइंडिया हिंदी

2
275

24daynews हिंदी में आपका स्वागत है मध्यप्रदेश में कमलनाथ पर सबसे बड़ा सियासी संकट खड़ा हो गया है ज्योतिरादित्य संघेया के साथ 22 कांग्रेस विधायक स्तिफेके बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई है

और उसका गिरना तय माना जा रहा है लेकिन हालात बने कैसे और क्यों ठीक होली वाले दिन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अचानक अपनी पार्टी की सरकार को संकट में डाल दिया आखिर क्या चाहते हैं ज्योतिरादित्य संध्या और इससे उनको क्या फायदा होने वाला है यह समझने के लिए पीएम मोदी से हुई उनकी मुलाकात के बारे में आपको जानना बेहद जरूरी है दरअसल मंगलवार दूसरी बार ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी आवास पर मुलाकात की और उसके बाद ही उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया

पीएम मोदी से सिंधिया की मुलाकात के दौरान गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे हालांकि इस्तीफा संध्या 9 मार्च को ही दे दिया था जिसकी कॉपी उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर होली के दिन ट्वीट करके सार्वजनिक कर दी

यह माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी के बीच हुई डील के बाद ही सिंधिया ने इस्तीफ़े का फैसला लिया बीजेपी के साथ हुई सिंधिया की डील में 4 महत्वपूर्ण बातें पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा सीट दी जाएगी दूसरी मोदी सरकार ने सिंधिया को कैबिनेट मंत्री पद मिलेंगे तीसरी मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने पर सरकार में उनकी भागीदारी और चौथी यह बात मध्य प्रदेश सरकार ने उपमुख्यमंत्री का पद उनके समर्थक विधायक में से किसी को




बीजेपी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पार्टी सिंधिया को राज्यसभा भेजने के लिए तयार है केंद्र ने उन्हें मंत्री बनाया जा सकता है कमलनाथ सरकार गिरने की स्थिती में बनने वाली नई सरकार ने सिंधिया खेमे को एक मुख्यमंत्रीपद भी बीजेपी दे सकती है

कुल मिलाकर बीजेपी और सिंधिया के बीच ऐसी डील हुई जिसे कमलनाथ सरकार संकट में आ गई है या यूं कहें कि कमलनाथ सरकार का गिरना तय है यह अगर आंकड़ों को देखा जाए तो गेंद पूरी तरह से बीजेपी के पाले में जाती दिख रही है

अभी मध्यप्रदेश विधानसभा में 230 सीटें हैं जिनमें से दो विधायक के निधन की वजह से दो सीटें खाली हैं ऐसे में फिलहाल सदस्यों की कुल संख्या228 ऐसे में बहुमत का आंकड़ा एक सौ पंद्रह है अभी कांग्रेस के पास 114 बीजेपी के पास 107 एसपी के पास एक बीएसपी के दो और निर्दलीय चार विधायक हैं

फिलहाल कमलनाथ सरकार को एसपी बीएसपी और अन्य निर्दलीय विधायक का समर्थन हासिल है लेकिन 22 कांग्रेस के विधायको की स्थिती के बाद यह समीकरण पूरी तरह से बदल जाएगा इस खबर में फिलहाल इतना ही तमाम अपडेट्स के लिए बने रहे 24daenews.com

2 COMMENTS

  1. Do you mind if I quote a couple of your posts as long as I provide credit and sources back to your site?
    My website is in the exact same niche as yours and my visitors would definitely benefit from a lot of the information you provide here.
    Please let me know if this ok with you. Thanks a lot!

  2. It is truly a nice and useful piece of information.
    I am satisfied that you simply shared this useful information with us.
    Please stay us up to date like this. Thank you for sharing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here