क्या अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद ओवैसी मदद की गुहार लगा रहे हैं?

0
571

दोस्तो सोशल मीडिया पर AiMIM के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी का वीडियो वायरल हो रहा है वीडियो के साथ ही दावा किया जा रहा है

की अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद अकबर अवैसी अल्लाह से मदद के लिए गिड़गिड़ा रहे हैं अकबरुद्दीन तेलंगाना विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं और Aimim के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई भी है

वायरल हो रही पोस्ट एक दो वीडियो का कोलाज हैं पहले वीडियो में उनका 2013 दो हज़ार तेरा का दिया गया एक विवादित बयान है और दूसरे वीडियो में वह काफी आवाज़ में मुसलमानों की भलाई के लिए दुआ करते हुए दिख रहे हैं

दावा किया जा रहा है दूसरा वीडियो दो हज़ार उन्नीस का है एक फेस वीडियो अपलोड करते हुए कैप्शन में लिखा क्या से क्या हो गया अमित साह के गृह मंत्री बनते

इसी तरह कई फेसबुक पेज और ट्विटर यूज़र्स ने भी इस वीडियो को इसी दावे के साथ शेयर की इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज़ रूम ने पाया कि दरअसल दूसरा वीडियो अमित शाह के गृह मंत्री बनने के काफी पहले मतलब 2014 का अकबरुद्दीन ओवेसी

असल में मुंबई में गिरफ्तार पार्टी पहले भारत समेत दुनियाभर के मुसलमानों की सलामती के लिए दुआ मांग रहे हैं

2013 का है जिसमें अकबर आवैसी कहरहे है

हम पच्चीस करोड़ ना तुम सा हैं ना कि गए जिनको हमारे से इतना ज्यादा है पंद्रह मिनट के लिए पुलिस को हटालो  पता चल जाएगा जिसमें कितना दम है

पहले वीडियो 2013  का है जब अकबरुद्दीन ओवैसी ने भड़काउ भाषण दिया था और इसे लेकर उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज हुआ था और वह जेल भी गए थे इस बारे में कई खबरें इंटरनेट पर मौजूद है

  हमने दूसरे वीडियो की पड़ताल की तो हमें कुछ न लाइन पेज मिले जैसे जिनके मुताबिक दूसरा वीडियो दो हज़ार चौदह का जब अकबरुद्दीन ओवैसी महारासट्र के दौरे पर थे

उन्होंने मुंबई सेंट्रल के होटल में आफ्टर पार्टी दी थी   हमे इस आयोजन के कई सारे वीडियो मिलें वीडियो जुलाई दो हज़ार चौदह के ही जिसमे  अकबरुद्दीन ओवैसी को अफ्तार से पहले दुआ मांगते हुए देखा जा सकता है

वायरल वीडियो में अकबरुद्दीन के बगल में जो शख्स बैठा हुआ दिखाई दे रहा है वो इस वीडियो में भी देखा जा सकता है हमने अकबरुद्दीन ओवैसी से संपर्क किया

उन्होंने इस बात की पुष्टि करते हुए हमें बताया कि दोनों वीडियो पुराने दूसरे वीडियो  मैं इफ्तारी से पहले दुआ मांग रहा था तो इस तरह इंडिया टुडे एंड फेक न्यूज़ वो रूम की

दोस्तों  पड़ताल में ये साफ हुआ है कि वायरल हुए दोनों वीडियो काफी पुराने हैं अमित शाह  एक जून दो हज़ार उन्नीस को भारत के गृह मंत्री बने जिससे इन विडियो का कोई संबंध नहीं है