200 संगठनों ने #CAA_NRC_NPR के खिलाफ एक नए सिरे से पूरे देश में विरोध प्रदर्शन शुरू करने का आह्वान किया है।

0
242

केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन (lockdown) 5 के तहत छूट देने के बाद लगभग 200 संगठनों ने #CAA_NRC_NPR के खिलाफ एक नए सिरे से पूरे देश में विरोध प्रदर्शन शुरू करने का आह्वान किया है।
इसमें “सब याद रखा जाएगा”(#SabYaadRakhaJayega) स्लोगन को संगठनों द्वारा अधिकारिक रूप से चिन्हित किया गया है।संगठनों ने 3 जून 12:00 बजे CAA का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों को अलग-अलग जगहों पर आमंत्रित किया। इस प्रदर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा।

ताकि कोरोनावायरस (coronavirus)के संक्रमण से बचा जा सके।
इस प्रदर्शन में छात्रों पर गलत तरीके से लगाए गए UAPA के खिलाफ राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू करने का भी आग्रह किया गया।आयोजकों ने प्रवासी मज़दूरों (migrant workers) को हो रही परेशानियों के खिलाफ भी सरकार से इस मुद्दे पर ध्यान देने का आवाहन किया है।आयोजकों का कहना है कि छात्रों पर देशद्रोही जैसे आरोप लगाना गलत है।संगठनों ने दिल्ली दंगों के असली आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है तथा पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए हैं।

साथ ही सफूरा ज़रगार, इशरत जहां, खालिद सैफी, गुलफिशां फातिमा, शरजील इमाम, शिफा उर रहमान आदि सैकड़ो छात्रों को lockdown होने बावजूद गिरफ्तार करने पर विरोध जताया है और उन पर लगे झूठे आरोपों को हटाने का आह्वान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here